बायोटेक्नोलाॅजी यानी विदेश में जाॅब का मौका: शुरूआत पैकेज ही 3 से 8 लाख रूपये का | Bio-Technology is opportunity to get job outside India

चार साल में बायोटेक का कारोबार दो गुना यानी 150 बिलियन यूएस डाॅलर से अधिक हो जाएगा। ऐसे में कंपनियों में दो गुना से भी ज्यादा जाॅब के ऑफर होंगे। भारत दुनिया के 12 शीर्ष देशों में से एक है। भारत की करीब 650 से ज्यादा कंपनियां अमेरिका में कारोबार कर रही हैं। ऐसे में बायोटेक्नोलाॅजी यानी विदेश में सबसे अच्छे विकल्प के रूप् में देखा जा रहा है। आइए जानते हैं एक्सपर्ट आकाश इंस्ट्टीयूट भोपाल के असिस्टेंट डायरेक्टर, रणधीर सिंह से

बायोटेक्नोलाॅजी यानी विदेश में जाॅब का मौका: शुरूआत पैकेज ही 3 से 8 लाख रूप्ये का

बायोटेक्नोलाॅजी आना वाला भविष्य

बायोटेक्नोलाॅजी न केवल जीवन बदलने वाला है यह आने वाला भविष्य भी बदलने वाला है। इस कोर्स से फूड से लेकर दवाओं और रिसर्च फील्ड में करियर बनाया जा सकता है। इसके लिए छात्र को 10वीं और 12वीं में साइंस विषय होना जरूरी है। 10वीं और 12वीं में तीनों विषय में कम से कम 60 प्रतिशत नंबर होना जरूरी है।

मार्केट की डिमांड

मार्केट में अभी यह 63 बिलियन यूएस डाॅलर का कारोबार है। अगले चार सालों में यह दुगुना यानी 150 बिलियन यूएस डाॅलर से ज्यादा हो जाएगा। भारत में करीब 2700 बायोटेक स्टार्टअप हैं। इनमें से 2500 रनिंग हैं। खास बात यह है कि इनमें से 665 के अमेरिका में पलांट हैं। कोविड का इंजेक्शन इसी माॅडर्न बायोटेक तकनीक से तैयार किया गया। इस कारण अब इसकी डिमांड ज्याददा बढ़ गई है।

Bio-Technology is opportunity to get job outside India

शुरूआती पैकेज 3 लाख से 8 लाख

इसमें करियर की शुरूआत में ही जाॅब ऑफर 3 लाख से 8 लाख रूप्ये के पैकेज के रूप् में हुई है। खास बात यह है कि इसमें प्राइवेट से लेकर सरकारी तक सभी जगह मांग बहुत रहेगी।

इससे कई दिशाओं में काम किया जा सकता है

बायोअेक ऐसी फील्ड है, जो कई तरह के अवसर देता है। इसमें वाॅटर ट्रीटमेंट, बायोफ्यूल, फूड एग्रीकल्चर, मेडिसन, केमिकल और अन्य कई तरह की फील्ड में जाया जा सकता है।

इस तरह से बनाए करियर

एक ऐसा क्षेत्र जिसमें करियर की संभावनाएं बढ़ती जा रही है। ये बायोलाॅजी और टेक्नोलाॅजी का नया रूप है। इसमें जैविक पौधों व जीव जंतुओं पर प्रयोग करके नए प्रोडक्ट का विकास करना होता है। इसकी पढ़ाई बीएससी बायोटेक्नोलाॅजी से जुड़ी हुई होती है। यह कई फील्ड में जाने का मौका देती है।

बीटेक बायोटेक्नोलाॅजी

ये ऐ टेक्निकल स्टडी है। इसे करने से इंजीनियरिंग लाइन में जाने का मौका मिलता है। ये 4 वर्षीय कोर्स होता है। इसके बाद इंजीनियरिंग की मास्टर डिग्री होती है। इसे करने से पास्टर इंजीनियर बन सकते हैं। ये 2 साल में पूरी होती है। इसे करने से आपको हाई पोस्ट पर जाॅब मिलने के चांस बनते हैं।

इस तरह समझे इसका भविष्य

ये किसी काम को अलग सतरीके से करने के लिए जानी जाती है। ये इंजीनियर मनुष्य की सुरक्षा व उनके शारिरिक बीमारियों को खत्म करने के लिए नए-नए प्रयोग करते हैं ये एग्रीकल्चर, मेडिसिन, नेनेटिक इंजीनियरिंग, एनिमल हसबेंड्री, हेल्थकेयर, उनवायरनमेंट कन्जर्वेशन और रिसर्च एंड डेवलपमेंट से संबंधित नई खाजे करते रहते हैं। फार्मस्युटीकल कंपनी, फूड मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्रीच, हेल्थकेयर प्रोडक्ट मैनुफैक्चरिंग, एग्रीकल्चर डेवलपमेंट कंपनी, एनिमल हसबेंडरी, रिसर्च लेबोरेट्रीज, मेडिसिन लाइन और हायर एजुकेशन के क्षेत्र में सबसे ज्यादा जाॅब हैं।

इसी प्रकार की सभी सरकारी नौकरी से सम्बंधित भर्ती के लिए आप हमारी वेबसाइट physicshindi.com पर रेगुलर विजिट करते रहिए और पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें।