MP BOARD NEWS

3 साल बाद भी नहीं हो पाइ 5704 पदों पर शिक्षकों की नियुक्ति और अलॉटमेंट | Appointment and allotment of teachers could not be done

3 साल बाद भी नहीं हो पाइ 5704 पदों पर शिक्षकों की नियुक्ति और अलॉटमेंट | Appointment and allotment of teachers could not be done

प्रदेश के जनजातीय विभाग में माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति तीन साल से अटकी हुई है। विभाग न तो 5704 माध्यमिक शिक्षकों को नियुक्ति दे रहा है और न ही स्कूल अलाॅटमेंट। लिहाजा चयनित उम्मीदवार नौकरी की आस में इंतजार कर रहे हैं। प्रदेश में 2018 में निकली 30 हजार पदों पर शिक्षकों की भर्ती संयुक्त रूप् से लोक शिक्षण संचालनालय और जनजातीय विभाग की परीक्षा व्यापमं ने आयोजित कराई थी। जिसमसें लोक शिक्षण संचालनालय में उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षकों की फाइनल चयन सूची और स्कूल अलाॅटमेंट के साथ नियुक्ति हो चुकी है, लेकिन जनजातीय विभाग में माध्यमिक शिक्षकों की नियुक्ति आदेश जारी नहीं किए गए हैं।

ज्नजातीय विभाग की लेटलतीफी…. नियुक्ति का इंतजार कर रहे चयनित माध्यमिक शिक्षक

Join

इधर, डीपीआई ने उच्च मा. शिक्षकों को नियुक्ति भी दे दी

डीपीआई की प्रक्रिया को पूरी करने के निर्देश जारी हो चुके हैं और इसी के साथ चयनित शिक्षकों को नियुक्ति मिलना शुरू हो गई है। लेनि जनजाति विभाग ने अभी तक फायनल चयन सूची ही जारी की है। विभाग में पता करने पर सही जवाब नहीं मिल पाता है, जिससे चयनित शिक्षकों का इंतजार बढ़ता जा रहा है। ज्ञात हो कि जनजाति विभाग में उच्च माध्यमिक शिक्षक के 2200 पद और माध्यमिक शिक्षकों के 5704 पदों पर फायनल चयन सूची 18 नवम्बर को जरी हो गई और वर्ग – 1 के स्कूल अलाॅटमेंट व नियुक्ति की प्रक्रिया पूरी हो गई है, लेकिन माध्यमिक शिक्षकों के 5704 पदों पर स्कूल अलाॅटमेंट होना है। चयनित शिक्षक जो जनजातीय विभाग में सिलेक्ट हैं, उनकी मांग है कि जल्द स्कूल अलाॅटमेंट के साथ नियुक्ति प्रक्रिया के आदेश जारी किए जाएं, ताकि लोक शिक्षण संचालनालय की तरह जरजातीय विभाग में चयनित शिक्षकों को भी नियुक्ति मिल सकें।

इधर, डीपीआई ने उच्च मा. शिक्षकों को नियुक्ति भी दे दी

>> 30 हजार पदों शिक्षकों की भर्ती 2018 में व्यापमं ने कराई थी।
>> 2200 पद थे उच्च माध्यमिक शिक्षकों के, जिन्हें नियुक्ति दी जा चुकी है।
>> लोक शिक्षण संचालनालय व जनजातीय विभाग ने कराई थी शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया। >> ज्नजाति विभाग चयन सूची ही जारी कर पाया उ.मा. शिक्षकों को नियुक्ति भी मिल गई।

Appointment and allotment of teachers could not be done
Appointment and allotment of teachers could not be done

2018 में निकाला गया था भर्ती का विज्ञापन

2018 में शिक्षकों की भर्ती का विज्ञापन जारी हुआ था। परीक्षा 2019 में हुई औरपरिणाम 2020 में घोषित किया गया, लेकिन माध्यमिक शिक्षकों के नियुक्ति पत्र जारी नहीं हुए। जनजातीय विभाग ने उच्च माध्यमिक शिक्षकों की ज्वाइनिंग 18 नवम्बर को दी दी, लेकिन 5704 माध्यमिक शिक्षकों की सिर्फ फायनल लिस्ट जारी की गई। 30 हजार पदों पर डीपीआई एवं ट्राइबल डिपार्टमेंट दोनों की संयुक्त परीक्षा हुए थी।

अफसरों के पास जवाब नहीं

इस मामले में जब डीबी स्टार ने जनजातीय विभाग के अफसरों से बात करनी चाहिए तो किसी भी अफसरर ने जवाब देना हीं दिया। विभाग के सहायक संचालक एमएस तोमर से हमने उनके मोबाइल नंबर 9425071719 पर संपर्क किया तो उन्होंने यह कहकर फोन काट दिया कि वे इस वक्त बाहर हैं। कमिश्नर संजीव सिंह से भी मोबाइल नंबर 8085477177 पर संपर्क किया, लेकिन उन्होंने भी न तो CALL और न ही SMS का जवाब दिया।

चयनित शिक्षकों का दर्द

  1. जनजातीय विभाग ने फाइनल सूची तो जारी कर दी, लेकिन नियुक्ति ओर अलाॅटमेंट नहीं दिया। लंबे समय से नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। अफसरों के पास कोई ठोस जवाब नहीं है। जानबूझकर नियुक्ति प्रक्रिया में देरी की जा रही है।
  2. परिणाम 2020 में आया। फायनल लिस्ट जारी होने के बावजूद नियुक्ति का इंतजार कर रहे हैं। विभाग भी कोई जानकारी नहीं दे रहा। उच्च माध्यमिक शिक्षकों को नियुक्ति मिल गई, लेकिन हमें क्यों इंजार करवाया जा रहा है।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए आप हमारी वेबसाईट physicshindi.com पर रेगुलर विज़िट करते रहिए तथा इस पोस्ट को शेयर करना न भूलें अपने दोस्तों के साथ।

You may also like

Comments are closed.