भोपाल

13 साल बाद 5वीं – 8वीं की होगी बोर्ड परीक्षा | 5th to 8th class will be board exam

13 साल बाद 5वीं – 8वीं की होगी बोर्ड परीक्षा | 5th to 8th class will be board exam

13 साल बाद 5वीं – 8वीं की होगी बोर्ड परीक्षा, 10वीं बोर्ड की वार्षिक परीक्षा में जुडे़ंगे हर गतिविधि के नम्बर

भोपाल : स्कूल शिक्षा विभाग तेरह साल बाद पांचवीं-आठवीं की बोर्ड परीक्षा शुरू करेगा। बोर्ड परीक्षा इसी सत्र 2021-22 से शुरू होगी। वहीं, दसवीं बोर्ड की वार्षिक परीक्षा में अगले सत्र से हर गतिविधि के नंबर जुड़ेंगे। साथ ही अगले सत्र से खुलने वाले करीब साढ़े तीन सौ सीएम राइज स्कूलों व ओपन द्वारा संचालित 53 स्कूलों में हर सभी भाषाओं की पढ़ाई करवाई जाएगी। यह घोषणा शुक्रवार को राज्य मंत्री परमार स्कूल शिक्षा मंडल द्वारा ‘नई शिक्षा नीति 2020-बोर्ड रिफाम्र्स एवं असेसमेंट’ पर आयोजित दो दिवसीय सेमीनार के समापन अवसर पर बोल रहे थे। सेमीनार का आयोजन कुशाभाऊ ठाकरे कन्वेंशन सेंटर (मिंटो हाॅल) में किया गया था।

Join

बोर्ड रिफाम्र्स की राष्ट्रीय कार्यशाला में राज्य मंत्री स्कूल शिक्षा इंदर सिंह परमार की घोषणा

सत्र के समापन अवसर पर प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा रश्मि शमी, आयुक्त लोक शिक्षण अभय वर्मा, संचालक राज्य शिक्षा केंद्र धनराज एस उपाध्यक्ष माशिमं रमा मिश्र, सचिव माशिमं उमेश कुमार सिंह समेत विभिन्न प्रदेशों के शिक्षा बोर्ड, एनसीईआरटी, सीबीएससी, आईसीएसई, आईबी, कैंब्रिज बोर्ड और प्रदेश के शिक्षाविद् शामिल थे। सभी बोर्ड ने अपने यहां लागू सिस्टम और परीक्षा पैटर्न के बारे में बताया। साथ ही एनसीईआरटी के प्रो. अनूप कुमार राजपूत, निश्चल शुक्ला, वेजयंती शंकर, रामसा प्रभारी मनीषा सेंथिया, संगीता मेमगीन, गरिमा बत्रा ने ई शिक्षा नीति को लागू करने पर अपने-अपने विचार रखे। प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन के अध्यक्ष अजीत सिंह, शिक्षाविद् कुलदीप सिंह राव समेत अन्य ने अपने सुझाव रखे। मंच संचालन माशिमं की अतिरिक्त सचिव 88 शीला दाहिमा ने किया।

2007-08 से बंद कर दी गई पांचवीं – आठवीं की परीक्षा

प्रदेश में पांचवीं-आठवीें के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा 2007-08 में बंद कर दी गई थी। निःशुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) लागू होने के बाद पहली से आठवीं तक के छात्र की परीक्षा बंद कर वार्षिक मूल्यांकन शुरू कर दिया था। आरटीई के तहत किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जा सकता था। इससे मूल्यांकन में स्कूलों में सभी विद्यार्थियों को पास किया जाने लगा। इससे कमजोर छात्र भी पास होने लगे।

5th to 8th class will be board exam
5th to 8th class will be board exam

केंद्र की अनुमति मिलने के बाद मप्र शासन ने 2019 में आरटीई में संशोधन किया। इसके तहत पांचवीं – आठवीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा। होगी। साथ ही फेल होने वाले विद्यार्थियों को आगे की कक्षा में प्रमोट नहीं किया जाएगा। वर्ष 2019-20 में पांचवीं – आठवीं के विद्यार्थियों की वार्षिक परीक्षा आयोजित की गई, लेकिन कोरोना के चलते बाद में सभी छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया। अब मंत्री ने पांचवी-आठवीं की परीक्षा को बोर्ड करने की घोषण कर दी है। यह परीक्षा भी वर्तमान सत्र 2021-22 से लागू होगी।

दसवीं कीवार्षिक परीक्षा में अगले सत्र से जुड़ेंगे नंबर

मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि अगले सत्र 2022-23 की दसवीं की वार्षिक परीक्षा में विद्यार्थियों को हर गतिविधि के नंबर मिलेंगे। इसमें खेल समेत अन्य बिंदु शामिल रहेंगे। इसके लिए मंत्री ने विभाग को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दे दिए हैं।

सीएम राइज स्कूलों में हर भाषा की होगी पढ़ाई

मंत्री परमार ने कहा कि हर सुविधा से लैस साढ़े तीन सौ सीएम राइज स्कूलों व ओपन द्वारा संचालित किए जाने वालेे 53 स्कूलों में हर भाषा की पढ़ाई होगी। उन्होंने कहा कि इसमें विद्यार्थी मराठी, कन्नड़ , पंजीबी समेत कोई भी भाषा चुन सकता है। इससे प्रदेशस में लघु भारत का स्वरूप् दिखाई देगा। साथ ही छात्र किसी भी भाषा का चयन करे दूसरे प्रदेश में आसानी से नौकरी कर सकता है।

एमपी बोर्ड की सभी खबरों के लिए आप हमारी वेबसाईट physicshindi.com पर रेगुलर विज़िट करते रहिए तथा इस पोस्ट को शेयर करना न भूलें अपने दोस्तों के साथ।

You may also like

Comments are closed.