जमीन में बैठा कर ली गई परीक्षा

एमपी बोर्ड के नियमों को किया गया तार-तार शहर के अंदर संचालित एक सरकारी स्कूल में बोर्ड की परीक्षा दे रहे परिक्षार्थियों को जमीन में बैठाकर परीक्षा लेने का मामला सामने आया है। जिस तरह की हालत शहर के अंदर परीक्षा केन्द्र में देखे गये हैं। उसे देखने के बाद ऐसा लगता है जब शहर के परीक्षा केन्द्र में इस तरह की मनमानी की जा रही है। तो फिर ग्रामीण क्षेत्रों में बने परीक्षा केन्द्रों के क्या हालत होंगे शायद यह बताने की जरूरत नहीं है। मगर इसके बाद भी सुबह से परीक्षा केन्द्र के फोटो ग्राफ्स सोशल मीडिया में वायरल रहे लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि इस मामले की जानकारी उन्हें है । आखिर इससे बड़ा आश्चर्य का विषय क्या होगा।

Join

धवारी के गली नम्बर 5 में संचालित परीक्षा केन्द्र का मामला बोर्ड की परीक्षा जमीन में बैठाकर लेने का यह मामला शहर के धवारी गली नम्बर 5 में संचालित शासकीय हाई स्कूल का बताया जा रहा है। माध्यमिक शिक्षा मंडल के स्पष्ट निर्देश है कि बच्चों की परीक्षाएं जमीन में नहीं बल्कि कुर्सी टेबल में बैठाकर ली जाये।लेकिन इस के बाद भी परीक्षा केन्द्र में आखिरकार ऐसा क्यों किया गया। यह बात समझ से परे है। तो क्या केन्द्र का नहीं किया गया सत्यापन सतना जिले के अंतर्गत जितने भी परीक्षा केन्द्र बनाये गये है। उनका विधिवत सत्यापन किया गया होगा जिसमें बताया गया होगा कि विद्यालय में परीक्षा केन्द्र बनाने के लिए बोर्ड के नियम के मुताबिक सारी सुविधाएं मौजूद है।

मुरैना, भिंड, रीवा और सतना में पहले दिन 4 नकल प्रकरण बने:-

भोपाल। एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षाएं गुरुवार से शुरू हो चुकी हैं। पहला पेपर इंग्लिश का हुआ। छात्रों को सुबह 8.30 बजे केंद्र पर पहुंचना अनिवार्य था। स्टूडेंट्स दौड़ते-भागते हुए एग्जामिनेशन सेंटर पहुंचे। पहला दिन होने पर उन्हें आखिरी वक्त तक एंट्री दी गई। पेपर सुबह 10 बजे से दोपहर 1 बजे तक हुआ। मुरैना, भिंड, रीवा संभाग और सतना जिले में एक-एक नकल प्रकरण बनाए गए। निरीक्षण दलों ने स्टूडेंटस को नकल करते पकड़ा। इस बार  12 वीं में 7 लाख से ज्यादा छात्र परीक्षा दे रहे हैं। इनके लिए 3 हजार 586 केंद्र बनाए गए हैं।

 

12th MP Board Exam 2022
                                                      12th MP Board Exam 2022

ग्वालियर में पेपर लीक नहीं हुआ:-

12वीं के स्टूडेंट्स ने गुरुवार को इंग्लिश का पेपर दिया। सुबह 10 से दोपहर 1 बजे तक पेपर हुआ। इससे 13 घंटे पहले बुधवार रात 9 बजे सोशल मीडिया पर इंग्लिश का पेपर वायरल हुआ। पेपर बांटने से पहले पेपर को खोलकर मिलान किया तो मैच नहीं हुआ। इनका कहना है परीक्षा केन्द्र प्रभारी से स्पष्टीकरण लेकर आगे की कार्यवाही की जायेगी। परीक्षा के लिए माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने स्पष्ट निर्देश दिये है कि जमीन में बैठाकर बोर्ड की परीक्षाए नहीं ली जायेगी। इसके बाद भी यदि जमीन में बैठाकर परीक्षा ली गई है तो यह गलत है। हम इस मामले की जानकारी लेकर कार्यवाही करेगें। संतोष कुमार त्रिपाठी जेडी रीवा संभाग डॉ. परिक्षित झाडे सीईओ जिला पंचायत सतना

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE