Uncategorized

10th के रिजल्ट में होगी बड़ी परेशानी, क्योकि अभी तक 700 school नही भेज पाए डाटा ( mp board class 10th, 12th result 2021 )

mp board class 10th, 12th result kaise banega ( mp board class 12 results )

Join

10th के रिजल्ट में होगी बड़ी परेशानी क्योकि अभी तक 700 school नही भेज पाए डाटा
10th के रिजल्ट में होगी बड़ी परेशानी क्योकि अभी तक 700 school नही भेज पाए डाटा

Join

10th के रिजल्ट में होगी बड़ी परेशानी क्योकि अभी तक 700 school नही भेज पाए डाटा ( mp board class 10th, 12th result 2021 )

कुरोना महामारी के चलते प्रदेश में 10वीं की परीक्षा निरस्त कर दी और दसवीं की परीक्षा निरस्त कर देने के बाद अब सरकार रिजल्ट बनाने को लेकर बहुत तेजी से अपने कार्य को बहा रही है और अभी तक प्रदेश में से 17 स्कूलों में से 1000 स्कूल ही डाटा भेज पाए हैं बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर और 700 स्कूलों ने अभी तक कोई डेटा नहीं भेजा है बोर्ड की वेबसाइट पर क्या उनके रिजल्ट में क्या प्रॉब्लम आएगी आगे आप जान लीजिए अगर इस तारीख तक नहीं कर पाया बोर्ड डाटा का सबमिट तो नहीं होगा आगे चलकर डाटा का समय सचिव ने बताया कि लगभग 10 जून तक सभी स्कूलों का डाटा आना तय है अब यह तारीख आगे नहीं बढ़ाई जा सकती क्योंकि कोरोनावायरस के चलते सत्र को आगे भी हमें देखना है सचिन ने बताया कि 10वीं और 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद अब जो दसवीं का रिजल्ट होगा उसे छमाही परीक्षा प्री बोर्ड और यूनिट टेस्ट के आधार पर बना दिया जाएगा परंतु अभी 12वीं का रिजल्ट बनाने में विचार-विमर्श जारी है और यह विचार विमर्श तब तक जारी रहेगा जब तक कोई कंफर्म न्यूज़ नहीं निकल कर आ जाती तो ट्वेल्थ का रिजल्ट के लिए अभी कोई जानकारी नहीं है अभी सिर्फ उसमें विचार-विमर्श जारी है लेकिन 10th का रिजल्ट जारी हो जाएगा 10 जून तक सभी विद्यालयों को देना होगा डांटा तभी बन पाएगा रिजल्ट अन्यथा होगी प्रॉब्लम.


मदरसा बोर्ड की 10वी 12वी की परीक्षा रद्द सभी छात्र होंगे प्रमोट ( board exam 2021 result )


लखनऊ उत्तर प्रदेश में मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं रद्द। सचिव ने मंगलवार को दी जानकारी – और कहा कि अब सभी छात्र होंगे प्रमोट। यह सभी छात्रों के लिए होगी बहुत बड़ी खुशखबरी, परंतु उन छात्रों के लिए यह बहुत बेहद दुख की न्यूज़ होगी जिन्होंने साल भर बहुत ज्यादा मेहनत किया होगा। और अपने रिजल्ट को 90 परसेंट या फिर 80 परसेंट बनाने की उम्मीद लेकर चले होंगे। तो प्यारे बच्चों आप परेशान ना होइए- प्रमोट होने पर भी आपको अगर आप अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं हैं तो आपको ऑफलाइन अथवा ऑनलाइन पेपर देने का ऑप्शन सरकार देने के लिए तैयार है। मंत्री ने बताया है कि करोना के कारण हमने छात्रों के हित में यह फैसला लिया है। और अगले सत्र को चलाने के लिए यह बहुत जरूरी था अगर छात्रों को प्रमोट नहीं किया जाता तो अगले सत्र को चलाने में दिक्कत हो सकती थी। इसलिए मदरसा बोर्ड ने छात्रों के हित में यह फैसला ले लिया है। मंत्री ने बताया कि दसवीं और बारहवीं को प्रमोट करने के कारण ही 11वीं और 9वीं के छात्रों को अगली कक्षा देने तथा अगले रिजल्ट को बेहतरीन बनाने में मदद मिल सकती है। नवमी और ग्यारहवीं वाले छात्रों को बहुत ज्यादा दिक्कत आ जाएगी इसलिए यह फैसला छात्रों के हित में मदरसा बोर्ड ने लिया है और 10वीं 12वीं की परीक्षा को निरस्त करके सभी छात्रों को प्रमोट करने का आदेश दिया है

 

10वीं 12वीं के छात्रों ने बनाया समूह और 300 गरीब परिवारों के लिए पहुंचाया राशन (mp board class 10,12 result 2021)

कोरोनावायरस के कारण बहुत सारे व्यक्ति गरीब और असहाय परिवारों की मदद में आगे बढ़ रहे हैं जिसमें से 1 बच्चों की टोली भी सामने आई है इस सुर्खियों में बच्चों ने एक टीम बनाई है जिसमें से नवमी, दसवीं, ग्यारहवीं और बारहवीं के बच्चे थे इन्होंने एक टोली बनाकर के 300 गरीब परिवारों के लिए 1 सप्ताह के लिए राशन उपलब्ध कराया है। जिसमें से वह गरीब परिवार उस राशन को एक हफ्ते तक चला सकता है। यह गरीब परिवार Doli एक लॉक डाउन के तहत बनवाई गई थी और इसमें जितने भी छात्र शामिल हैं वह सभी गरीबों की मदद करते हैं और और इन बच्चों के समूह का नाम फीडिंग इंडिया है। इन 300 परिवारों के रिश्तेदार साथ ही भूखे और बेरोजगारी से परेशान थे। जिनके लिए 7 दिनों का राशन 300 छात्रों ने उपलब्ध कराया है। और उन्होंने बहुत दुआएं दी है तो मैं सब से कहूंगा कि आप भी अपनी अपनी एक टोली बनाई है। और जहां भी आपके आसपास गरीब और असहाय मजदूर लोग रहते हैं उनकी मदद कीजिए अगर आप ₹10 खर्च कर भी उनकी मदद कर देते हैं तो मान लीजिए कि आपका वह दिन बहुत बेहतरीन जाएगा, क्योंकि गरीब और असहाय व्यक्तियों की संख्या लॉकडाउन के कारण बढ़ गई है। लॉकडाउन में बहुत सारी कंपनियां जो चलती थी और गरीब असहाय लोग वहां पर मजदूरी करके अपना पालन पोषण करते थे, वह सारी चीजें बंद हो गई है तब ज्यादा गरीबी और ज्यादा मजदूरी आ गई है तभी 300 छात्रों ने टोली बनाकर इतनी मदद की बहुत-बहुत धन्यवाद।

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *