Uncategorized

10 वीं के छात्रों को होगा बड़ा नुकसान क्योंकि 3 सालों के सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट में से 2% ही बढ़ा सकते हैं ( mp board class 10th, 12th result kaise banega )

10 वीं के छात्रों को होगा बड़ा नुकसान क्योंकि 3 सालों के सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट में से 2% ही बढ़ा सकते हैं|( 10th result board exam 2021 )


Join
10 वीं के छात्रों को होगा बड़ा नुकसान क्योंकि 3 सालों के सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट में से 2% ही बढ़ा सकते हैं
10 वीं के छात्रों को होगा बड़ा नुकसान क्योंकि 3 सालों के सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट में से 2% ही बढ़ा सकते हैं

10 वीं के छात्रों को होगा बड़ा नुकसान क्योंकि 3 सालों के सर्वश्रेष्ठ रिजल्ट में से 2% ही बढ़ा सकते हैं ( mp board class 12 result 2021 )

प्रदेश सरकार ने इस बार माध्यमिक शिक्षा मंडल की 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं रद्द कर दिए। दसवीं की परीक्षा के रिजल्ट के नियम स्कूल के शिक्षकों को मिल चुके हैं, लेकिन 12वीं के रिजल्ट के नियम आना बाकी है। 10 वीं की रिजल्ट के जो नियम बनाए गए हैं उसके फार्मूले से मेधावी छात्रों को नुकसान हो सकता है। फॉर्मूला यह है कि किसी भी स्कूल का वार्षिक परीक्षा परिणाम विगत 3 साल के वार्षिक परीक्षा परिणाम के सर्वश्रेष्ठ यह औसत से 2 फ़ीसदी से अधिक नहीं हो सकता। इसमें पूरे समय अनुपस्थित छात्राओं को अनुत्तीर्ण किया जाएगा। स्कूल में उपस्थित दर्ज कराने वाले सभी छात्रों के उत्तीर्ण कराना है, उन्हें पास लायक नंबर देना है यह नंबर भी छात्रों की अर्धवार्षिक, प्री बोर्ड, मासिक टेस्ट, आंतरिक मूल्यांकन में मिले अंको के आधार पर सीधा बोर्ड को भेजना है। बोर्ड में अंक पहुंचने के बाद अगर स्कूल के अंक 2 फ़ीसदी से अधिक होते हैं, तो बोर्ड अंकों में कटौती करेगा बोर्ड की यह कटौती मेधावी छात्र छात्राओं को सीधे प्रभावित करेगी, उनका प्रतिशत गिरेगा जबकि साल भर स्कूल में उपस्थित दर्ज करा कर मस्ती करने वाले छात्रों को लाभ मिलेगा वह पास हो जाएंगे ।            

एमपी बोर्ड कक्षा 12th का रिजल्ट कैसे बनेगा 2021 देखने के लिए यहां पर क्लिक करें

Join

बोर्ड क्यों करेगा कटौती छात्रों के रिजल्ट के साथ जाने पूरी खबर (mp board class 12 result 2021)

चालू शैक्षणिक सत्र में हाई स्कूलों के छात्र की अर्धवार्षिक प्री बोर्ड,  मासिक टेस्ट, आंतरिक मूल्यांकन हो चुका है। छात्रों को इसके नंबर भी दिए जा चुके हैं, बोर्ड ने इन नंबरों को ऑनलाइन सीट मैं भरने को सभी स्कूलों को निर्देश दिया है। आमतौर पर इन परीक्षाओं का मूल्यांकन स्कूल स्तर पर ही होता है, छात्रों के अच्छे अंक आते हैं, जिसमें कई स्कूलों का परीक्षा परिणामों में बीते साल की तुलना में 15 से 30 फ़ीसदी  तक सुधार होगा, क्योंकि 2 फ़ीसदी से अधिक सुधार नहीं होना ऐसे में बोर्ड छात्रों के अंकों में कटौती  करेगा।

सस्कृत बोर्ड से परीक्षा के छात्रों  को भी मिला जनरल प्रमोशन (mp board sanskrit board k students ko bhi milega general promotion)

 कोरोना महामारी को देखते हुए संस्कृत बोर्ड परीक्षा के छात्रों को भी जनरल प्रमोशन दे दिया गया है, इस प्रमोशन में मंत्री ने कहा है कि सभी छात्रों के हित में ही हम इस जनरल प्रमोशन को कर रहे हैं। क्योंकि कोरोना महामारी खत्म होने का नाम नहीं ले रही है, अगर यह महामारी खत्म नहीं होती है, तो हम अगली कक्षाओं को लगाने में असमर्थ हैं, जिसमें से नवमी और ग्यारहवीं में पड़ने वाले सभी छात्र छात्राओं को बहुत ज्यादा प्रॉब्लम सामने आ रही है। और उनकी अगली तैयारी नहीं हो पा रही इसलिए हमें 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा को प्रमोशन देना जरूरी समझा। और यह छात्रों के हित में है और जो जिन छात्रों ने बेहतरीन तैयारी करी थी, उनके लिए सरकार को option रखेगी इसमें से ऑफलाइन या फिर ऑनलाइन एग्जाम कराएगी।  अगर आप अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं है ऐसा सुर्खियों के तौर पर देखा गया है लेकिन यह कोई कन्फर्मेशन न्यूज़ नहीं है। न्यूज़ सिर्फ इतनी है कि जो संस्कृत बोर्ड है उसने भी दसवीं और बारहवीं के सभी बच्चों को प्रमोट कर दिया है, उन्हें अब पेपर नहीं देना पड़ेगा। बिना परीक्षा के प्रमोट कर दिया गया है, तो कुछ छात्रों के लिए तो बहुत बड़ी खुशखबरी है, और कुछ छात्रों के लिए बहुत बड़ी प्रॉब्लम है। तो इसी तरह की न्यूज़ जानने के लिए हमारे इस वेबसाइट को विजिट करते रहिए, और हम आपको बताते रहेंगे कि किस बोर्ड में क्या अपडेट है सारी जानकारी यहां पर आपको मिलेगी।


Thank you

You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *