कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्रों को इसी माह मिलेंगे प्रश्नबैंक।

जिले के सरकारी विद्यालयों में पढ़ रहे कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्रों को ऑनलाइन प्रश्न बैंक मिलेंगे। इस बैंक के जरिये ही छात्रों का मूल्यांकन होगा। इस बाबत स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कार्यवाही की जा रही है। साथ ही जिला स्तर पर अधिकारियों से सुझाव मांगे गए हैं। प्रश्न बैंक हेतु एक सरल एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर को तैयार किया गया है,  जिसने काम करना शुरू कर दिया है। बताते हैं कि यह एप्लीकेशन कम्प्यूटर और एंड्रायड फोन दोनों से ऑपरेट हो जायेगा।गौरतलब है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण के  चलते पिछले जनवरी माह में विद्यालय बंद कर दिए गए थे। इस बीच ही प्रश्न बैंक देने की कवायद बढ़ी। अब हालांकि विद्यालय खुल गए हैं लेकिन विद्यालयोंमें छात्रों की उपस्थिति नगण्य हैं और मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए छात्रों को विद्यालय पहुंचने एके लिए दबाव भी नहीं बनाया जा रहा।

ऐसे में छात्रों की मुख्य परीक्षा की तैयारी प्रभावित होना तय है। इस लिहाज से ही यह प्रश्न बैंक छात्रों को दिया जाना तय हुआ है, जिससे छात्रों को मुख्य परीक्षा की तैयारी करने में आसानी हो सके।जिला स्तर पर जनरेट होंगे प्रश्न-पत्र:-बताया गया कि आवश्यकतानुसार एप्लीकेशन में सम्भाग व जिला स्तर पर भी प्रश्न पत्र जनरेट किये जा सकेंगे, यह सुविधा भी एप्लीकेशन में दी जा रही है। इस एप्लीकेशन का यू-ट्यूब लाइव डेमो वीडियो भी स्थानीय अधिकारियों को दिखाया गया है, जिससे एप्लीकेशन का संचालन जिम्मेदारों द्वारा ठीक से किया जा सके। वहीं, विषय विशेषज्ञों के पैनल द्वारा । उच्च स्तरीय प्रश्नों का निर्माण किया जा रहा है, ताकि छात्रों का सर्वांगीण विकास हो सके।

पांचवी और आठवीं की होगी बोर्ड परीक्षा:-

इस बार छात्रों को नहीं किया जाएगा प्रमोट:- कक्षा पांचवी और कक्षा आठवीं की परीक्षा बोर्ड होने पर छात्र-छात्राओं को प्रमोट नहीं किया जाएगा. फेल होने वाले विद्यार्थियों को आगे की कक्षा में प्रमोट नहीं किए जाने की तैयारी की जा रही है। साल 2019-20 में पांचवी और आठवीं के विद्यार्थियों की बोर्ड पैटर्न पर वार्षिक परीक्षा आयोजित कराई गई थी। कोरोना के चलते बाद में दो पेपर में जनरल प्रमोशन देकर सभी छात्र छात्राओं को अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया गया था। स्कूल अपनी सुविधानुसार कक्षा पहली और दूसरी के छात्रों की परीक्षा स्कूल में आयोजित कर सकेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग ने इस बारे में निर्देश जारी कर दिए गए हैं जबकि कक्षा 3 से लेकर आठवीं तक की परीक्षा मार्च महीने में आयोजित की जाएगी स्कूल शिक्षा विभाग के नियमों और निर्देशों की माने तो कक्षा 3 से 8वीं तक की परीक्षाएं 7 से 31 मार्च के बीच आयोजित की जाएगी।  2007-08 से बंद थी बोर्ड परीक्षामाध्यप्रदेश में कक्षा पांचवी और कक्षा आठवीं के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा 2007-08 में बंद कर दी गई थी. आरटीई लागू होने के बाद पहली से आठवीं तक वार्षिक मूल्यांकन शुरू किया गया था। आरटीई के तहत किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जा सकता था. इससे मूल्यांकन में स्कूलों में सभी विद्यार्थियों को पास किया जाता रहा है. इसी के चलते कमजोर छात्र भी पास होने लगे। केंद्र की अनुमति मिलने के बाद मध्यप्रदेश शासन ने 2019 में RTE में संशोधन किया। अब 13 साल के लंबे इंतजार के बाद कक्षा 5 और कक्षा आठवीं के विद्यार्थियों की बोर्ड पैटर्न पर वार्षिक परीक्षा आयोजित हो रही है। 

Join
1 to 8th Student will Get Question Bank
1 to 8th Student will Get Question Bank

10वीं, 12वीं के छात्रों को भी दिएगए  प्रश्न बैंक:-

बताते चलें कि विभाग ने कक्षा 10वीं, 12वीं के छात्रों के लिए भी ऑनलाइन प्रश्न बैंक की सुविधा दी है। विगत दिसम्बर माह में छात्रों को प्रश्न बैंक उपलब्ध भी करा दिए गए हैं। अब इस बैंक में उपलब्ध प्रश्नों के हिसाब से छात्र यदि परीक्षा की तैयारी करेंगे तो उन्हें कुछ सहूलियत मिल सकती है। बता दें कि कक्षा 10वीं, 12वीं की मुख्य बोर्ड परीक्षा 17 फरवरी से प्रारम्भ हो चुकी है। कक्षा 10वीं के 37 हजार 284 व कक्षा 12वीं के 22 हजार 798 छात्र इस परीक्षा में शामिल हो रहे हैं।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE