मध्यप्रदेश में 1 से 9 तक की परीक्षा भी ऑफलाइन होंगी

मध्यप्रदेश में अब पहली से नौवीं क्लास तक की परीक्षा भी ऑफलाइन होंगी। स्कूल शिक्षा मंत्री ने निर्देश जारी किया है एग्जाम में कोरोना सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं पड़ेगी। 10वीं और 12वीं परीक्षा में प्रश्न पत्र सरल होंगे। मध्यप्रदेश सरकार ने 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के बाद अब बाकी बची क्लास की परीक्षा भी ऑफलाइन कराने का फैसला लिया है। साथ ही 10वीं और 12वीं की परीक्षा के प्रश्न पत्र को सरल करने की कोशिश भी की है। स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने इसको लेकर बयान भी दिया है। स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा है कि पहली से लेकर नौवीं क्लास तक की परीक्षा भी ऑफलाइन होगी इसको लेकर दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।

उन्होंने यह भी कहा की 10वीं और 12वीं परीक्षा को लेकर तैयारी पूरी कर ली गई है। क्लास रेगुलर ना लगने के कारण बच्चों की पढ़ाई अच्छी तरह से नहीं हो पाई है इस वजह से प्रश्नपत्र आसान होना चाहिए। क्लासेज कभी ऑनलाइन लगी है और कभी स्कूलों में इस वजह से कोई बच्चे स्कूल जा पाए हैं और कुछ नहीं जा पाए हैं और कई लोगों के पास स्मार्ट मोबाइल ना होने के कारण भी पढ़ाई नहीं हो पाई है। कोरोना के चलते प्रश्न पत्रों को आसान करने की कोशिश की गई है ताकि बच्चे आसानी से प्रश्न पत्र हल कर सके और परीक्षा में उत्तीर्ण हो सके।

कांग्रेस सरकार लेट फीस को लेकर लगातार सवाल-

10वीं और 12वीं की परीक्षा को लेकर लेट फीस के मामले में कांग्रेस लगातार सवाल खड़े कर रही है। मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि 10000 लेट फीस का प्रावधान पहले से था। कांग्रेस की गवर्नमेंट में भी था हम अगले सत्र में इस पर विचार करेंगे।इस बार परीक्षा के पैटर्न को भी बदला गया है साथ ही बच्चों से किसी तरीके का सर्टिफिकेट कोरोना के लिहाज से नहीं मांगा जाएगा यदि सिम्टम्स होने पर बच्चों के लिए भी प्लान तहत व्यवस्था रहेगी। पैटर्न तो चेंज होंगे मगर प्रश्न पत्र आसान होंगे। बोल सकते हैं कि इस बार 10वीं और 12वीं के बोर्ड एग्जाम इजी पैटर्न में होंगे पूरी कोशिश की जा रही है कि आसान प्रश्न पत्र ही बने।

Join
1-9th class offline exam mp
1-9th class offline exam mp

ऑफलाइन परीक्षा पर फोकस-

स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि सरकार का फोकस ऑफलाइन परीक्षाओं पर है। कहा कि स्कूलों को भी 50 फ़ीसदी क्षमता के साथ खोलने का फैसला लिया गया है। तमाम दिशा निर्देश स्कूलों को जारी कर दिए गए हैं। इसी दिशा निर्देश के तहत 10वीं और 12वीं की परीक्षा आयोजित की जा रही है। सरकार की तरफ से तैयारी पूरी है। कोरोना नियमों के तहत व्यवस्थाएं परीक्षा केंद्रों पर की गई है। सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाए इसके लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है। 10वीं और 12वीं की परीक्षा के बाद अब बाकी क्लास की परीक्षा पर फोकस है। पांचवी और आठवीं की बोर्ड परीक्षाएं भी ऑफलाइन होगी। इसके अलावा पहली से लेकर छठवी तक की परीक्षाएं भी ऑनलाइन कराने का फैसला लिया गया है। कई परीक्षाएं भी रहेंगे और बाकी दिशा-निर्देशों के तहत की जा रही है।

 

महत्वपूर्ण जानकारियाँ —

“बोर्ड परीक्षा के लिए TIPS & TRICKS के लिए यहाँ पर क्लिक करें। ”

JOIN WHATSAPP GROUP CLICK HERE
JOIN TELEGRAM GROUP CLICK HERE
PHYSICSHINDI HOME CLICK HERE

 

 

Leave a Comment