mp बोर्ड एग्जाम 2022 कक्षा 12 रसायन विज्ञान महत्वपूर्ण प्रश्न pdf download

mp बोर्ड एग्जाम 2022 कक्षा 12 रसायन विज्ञान महत्वपूर्ण प्रश्न pdf download

 आज के इस पोस्ट में मैं आपको कक्षा 12 के छात्रों के लिए रसायन विज्ञान के कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न बताऊंगा जो बोर्ड परीक्षा 2021 के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण रहेंगे प्यारे छात्रों अगर आप इन सभी प्रश्नों को याद करके जाते हो तो इनमे से कुछ प्रश्न आपको बोर्ड परीक्षा 2021 में देखने को मिल जाएंगे तो पेपर देने से पहले एक बार इन सभी प्रश्नों का रिवीजन करके अवश्य जाना है।

Chemistry important questions Class 12 2019,Important 5 Mark Questions of Chemistry Class 12,Chemistry Question bank for Class 12 free download,Important questions for Class 12 Chemistry CBSE Board 2020,Organic Chemistry Important questions and answers,Chapter wise Previous Year Questions of Chemistry Class 12,Accountancy Class 12 important questions,Important questions for Class 12 Chemistry HSC pdf.

प्रश्न 1-. मोलरता तथा मोललता में अंतर स्पष्ट करो

उत्तर- मोलरता-

a) मोलरता में बिलियन के आयतन पर विचार करते हैं।

b) मोलरता किसी बिलियन के 1 लीटर में घुले विलय पदार्थों के मोलों की संख्या है।

Join

c) मोलरता में विलायक के भार का कोई महत्व नहीं होता।

d) इसे कैपिटल M द्वारा प्रदर्शित करते हैं।

e) मोलरता तापक्रम पर निर्भर करती हैं।

मोललता-

a) मोललता में विलायक के द्रव्यमान पर विचार करते हैं।

b) मोललता बिलियन के प्रति 1000 ग्राम विलायक में घुले विलय पदार्थ के मोलो की संख्या है।

c) मोललता में बिलियन के आयतन का कोई महत्व नहीं होता है।

d) इसे स्मॉल m से प्रदर्शित करते हैं।

e) मोललता तापक्रम के साथ परिवर्तित नहीं होती है।

 

प्रश्न 2- फैराडे के विद्युत अपघटन के नियम लिखिए।

उत्तर- फैराडे के विद्युत अपघटन के नियम

सन 18 सो 32 में माइकल फैराडे के विद्युत अपघटन के दो नियम दिए

प्रथम नियम- विद्युत अपघटन से किसी इलेक्ट्रोड पर मुक्त होने वाले पदार्थ की मात्रा प्रवाहित विद्युत धारा की मात्रा के समानुपाती होती है।

माना i एंपियर की धारा t सेकंड तक प्रवाहित करने पर इलेक्ट्रोड पर W ग्राम पदार्थ मुक्त होता है तो इस नियम से

board exam 2021 class 12 Chemistry imp Question

 

  द्वितीय नियम-

जब श्रेणी क्रम में लगे हुए विभिन्न विद्युत अपघट्य के बिलियन ओ से होकर विद्युत की समान मात्रा प्रवाहित की जाती है तो इलेक्ट्रोड पर एकत्रित विभिन्न पदार्थों की मात्राएं उनके रासायनिक तुल्यांक के अनुक्रमानुपाती होती है।

माना श्रेणी क्रम में जुड़े हुए दो विद्युत अपघट्य में विद्युत की समान मात्रा प्रवाहित करने पर विक्षेपित पदार्थ की मात्राएं क्रमशः W1 व W2 है तथा उनके रासायनिक तुल्यांक क्रमशः E1 व E 2 है तो

                                                                                                                                                                       प्रश्न नंबर 3  सक्रियण ऊर्जा पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए

उत्तर-  ऊर्जा कि वह न्यूनतम मात्रा जो देहली ऊर्जा से कम ऊर्जा वाले अणुओं को प्राप्त करनी पड़ती है, ताकि वे ऊर्जा अवरोध को पार कर सके, सक्रियण ऊर्जा कहलाती है।

किसी अभिक्रिया के संपन्न होने के लिए यह आवश्यक है के अभी कारकों की ऊर्जा सक्रियण ऊर्जा के बराबर तो होनी ही चाहिए। उत्प्रेरक की उपस्थिति से इसके मान को कम किया जा सकता है जिससे कम ऊर्जा पाकर भी अब क्रिया संपन्न हो सकती है।

सक्रियण ऊर्जा को आरहिनियास समीकरण के आधार पर ज्ञात किया जा सकता है-

प्रश्न – 4  निम्नलिखित शब्दों को समझाइए

विद्युत कण संचलन, स्कंदन, अपोहन, टिंडल प्रभाव

उत्तर- विद्युत कर संचलन

कोलाइड कड़ों पर धन हथवा रेड विद्युत आवेश रहता है अतः जब कोलॉयड विद्युत क्षेत्र में रखा जाता है तो यह कड़ विपरीत आवेश वाले इलेक्ट्रोड की ओर चलने लगते हैं और उन पर पहुंचकर उदासीन होकर अवक्षेपित हो जाते हैं कोलॉइड कड़ों का विद्युत प्रभाव से इस प्रकार का अभिगमन विद्युत कण संचलन कहलाता है।

स्कंदन

कोलाइड कण धनात्मक अथवा ऋण आत्मक विद्युत आवेशित होते हैं यह देखा गया है कि कोलाइड में उन पर आवेश से विरुद्ध आवेश वाले विद्युत अपघट्य उचित मात्रा में मिला दें तो उनका आवेश नष्ट हो जाता है और वे आपस में एकत्रित होकर अवक्षेप बना देते हैं, यह क्रिया स्कंदन कहलाती है।

अपोहन

कोलाइडी विलयन से उसमें उपस्थित घुले हुए पदार्थों को पार्चमेंट झिल्ली द्वारा निष्कासित करने की विधि अपोहन कहलाती है

टिंडल प्रभाव

यदि प्रकाश पुंज को कोलाइडी विलयन में से गुजारा जाए तो प्रकाश मार्ग एक चमकते हुए शंकु के रूप में दिखाई देता है। इसका अध्ययन सबसे पहले टिंडल ने किया था, अतः इसे टिंडल प्रभाव वह चमकीले शंकु को टिंडल शंकु कहते हैं।

 

Leave a Comment