Uncategorized

( एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं का रिजल्ट कैसे बनेगा 2021) Mp board class 12 result 2021 kaise banega

(एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं का रिजल्ट कैसे बनेगा 2021)|Mp board class 12 result 2021 kaise banega

Mp board class 12 result kaise banega
Mp board class 12 result kaise banega


Join

Mp board class 12 result kaise banega 2021( एमपी बोर्ड कक्षा 12वीं का रिजल्ट कैसे बनेगा 2021)

10 वीं में मिले नंबरों के आधार पर तैयार हो सकता है 12वीं का रिजल्ट:  

एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा निरस्त होने होने केेेे बाद अब रिजल्ट तैयार करनेेेेे के फार्मूले पर  मशक्कत चल रही है। सूत्रों का कहना है कि रिजल्ट को लेकर गठित मंत्रियों की समिति की बुधवार को हुई बैठक में इस पर चर्चा हुई है। बताया जाता है कि पहले सीबीएसई के फार्मूले का इंतजार किया जा रहा था। लेकिन सीबीएसई 10वीं, 11वी, और 12वीं के इंटरनल नंबर के आधार पर रिजल्ट तैयार कर रहा है। इधर, एमपी बोर्ड के सामने दिक्कत यह है कि उसके पास 11वी कक्षा के बच्चों के रिजल्ट का डेटा ही नहीं है, क्योंकि पिछले साल परीक्षा के बजाय 11वी के बच्चों को जनरल प्रमोशन दिया गया था। इसलिए 10वीं की परीक्षा में प्राप्त अंकों और इंटरनल एसेसमेंट के आधार पर 12वीं का रिजल्ट बनाने की बात कही गई है। 28 जून को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के समक्ष प्रेजेंटेशन के बाद इसे फाइनल किया जाएगा।  

28 जून को पीएम के सामने रखेंगे 12वीं का फॉर्मूला (एमपी बोर्ड कक्षा 12 वीं रिजल्ट का फार्मूला 28 जून को फाइनल होगा)

लंबे समय से माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) की कक्षा 12वीं का मूल्यांकन फार्मूला तय होने और रिजल्ट का इंतजार कर रहे विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। सोमवार तक कक्षा 12वीं के मूल्यांकन का फार्मूला जारी हो  सकता है। स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री इंदरसिंह परमार ने कहा है की माशिमं 12वीं के मूल्यांकन फार्मूले को लेकर विषय विशेषज्ञों की टीम और मंत्री समूह तैयारियों में जुटा हुआ है। इसमें आए सुझावों पर विचार कर एक-दो दिन में अंतिम रूप दे दिया जाएगा। 28 जून को सीएम के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा यहां से हरी झंडी मिलने के बाद फार्मूला फाइनल कर दिया जाएगा। बता दें कि बीते गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों के बोर्डो को 31 जुलाई से पहले 12वीं कक्षाओं का परिणाम जारी करने के आदेश दिए। है इसी के साथ सर्वोच्च अदालत ने कहा कि आंतरिक मूल्यांकन को 10 दिन दिनों के भीतर तैयार कर लिया जाना चाहिए। जिसके बाद मप्र में  भी इसको लेकर कवायद तेज हो गई है।

Join

आरटीई: समस्याओं के समाधान के लिए स्कूल आरएसके को लिखा पत्र।

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन मात्र ने राज्य शिक्षा केंद्र को वर्ष 2021-22 आरटीई में आ रही समस्याओं और विसंगतियों के समाधान के लिए पत्र लिखा है। इसके साथ ही समस्या का निराकरण नहीं होने की स्थिति में आंदोलन की चेतावनी दी है। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन का कहना है कि वर्ष 2021-22 आरटीई में प्रवेश हेतु समस्याओं द्वारा बच्चों की संख्या एवं पड़ोस की सीमा लॉक कर दी गई थी, किंतु संपूर्ण मप्र में संबंधित बीआरसीसी द्वारा भारी अनियमितताएं करते हुए किसी विद्यालय की सीट कम कर दी गई है। किसी विद्यालय की सीट अधिक कर दी गई जो विद्यालय निर्धारित सीटों पर प्रवेश देते थे उन विद्यालयों की सीटें कम कर दी गई हैं। पड़ोस की सीमा भी सही ढंग से ना दर्शाते हुए मनमर्जी से सीमा निर्धारित कर दी गई कई विद्यालयों में पड़ोस के वार्ड को जोड़ा ही नहीं गया। इसके कारण प्रदेश आईटीई के उद्देश्य की पूर्ति नहीं हो पा रही है। एसोसिएशन ने मांग की है। कि प्रदेश में जिन भी आरबीसीसी द्वारा नियमों का उल्लंघन किया गया उन सभी की जांच कराई जाए सत्र 2018-19 का भुगतान में पोर्टल की गड़बड़ी से प्रदेश के अनेक विद्यालयों में संपूर्ण राशि का भुगतान नहीं हो पाया है। सत्र 2019-20 प्रपोजल जमा करने की अंतिम तिथि 30/06/2021 है। परंतु पोर्टल से पासवर्ड रिसेट के मैसेज नहीं आ रहे हैं। और आधार अपडेट करने के बाद ओटीपी नहीं जा रही है एवं सत्र 2018-19 से 2019-20 में बच्चों को प्रमोट करने के लिए ऑप्शन नहीं आ रहा है। 

घर बैठे कैसे करें पढ़ाई किताबे अब तक नहीं मंगाई

सरकारी स्कूलों के लिए ऑनलाइन पढ़ाई चुनौती है, क्योंकि उनके पास पढ़ने के लिए किताबें नहीं है। विभाग के पास किताबों की सप्लाई नहीं हुई है ऐसे में बच्चे भी इसके बिना ही पढ़ने मजबूर है। किताबों के लिए अभी जुलाई तक इंतजार करना होगा ऐसे में जुलाई के अंत तक ही जिले में पाठ्य पुस्तकों की आपूर्ति की जाएगी। हालांकि विभाग द्वारा दावा किया जा रहा है कि 15 जुलाई से इसका वितरण शुरू किया जाएगा लेकिन फिलहाल ऐसा मुमकिन नहीं लग रहा। वहीं विभाग द्वारा अब स्थिति में निपटाने के लिए वर्क बुक का प्लान किया जा रहा है ताकि स्कूलों में शुरू हुई ऑनलाइन पढ़ाई में बाधा ना आए। पहले से तय की गई किताबों की अभी तक आपूर्ति शुरू नहीं हो सकी है वहीं अब वर्क बुक के लिए 25 जुलाई तक देने का वादा किया गया है जबकि इसका प्रकाशन अभी तक शुरू नहीं हुआ है ऐसे में पूरे जुलाई माह किताबों की कमी की स्थिति बनी रहेगी। किताबों को लेकर रोजाना स्कूलों में अभिभावक पहुंच रहे हैं तो वही फोन कर जानकारी ले रहे हैं। शिक्षक भी निरंतर होकर जल्द आने को हवाला दे रहे हैं 16 जुलाई से 15 अगस्त तक विद्यार्थियों के लिए हमारा घर-हमारा विद्यालय-प्रयास अभ्यास पुस्तक  सामग्री मेल के द्वारा जिलों को भेजी जाएगी। इस 48 पेज की सामग्री को बच्चों को उनके घर पर कार्य करने के लिए उपलब्ध करनी होगी।Mp board class 12 result kaise banega

किताबों की आपूर्ति राज्य शिक्षा केंद्र के द्वारा की जाएगी या आश्वासन मिला है इसके पूर्व वक्र बुक का वितरण किया जाएगा ताकि छात्र अभ्यास कर सकें।          

                                            


You may also like

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *